ताज़ा तरीन

हेमकुण्ड साहिब के पास नया हेलीपैड बनने से पर्यावरणविद् चिन्तित

हेमकुण्ड साहिब के पास नया हेलीपैड बनने से पर्यावरणविद् चिन्तित

सीमा शर्मा उत्तराखंड राज्य के चमोली जिले के जोशीमठ तहसील में स्थित श्री हेमकुंड साहिब में बनने जा रहे हैलीपैड ने बेहतर पर्यावरण की वकालत करने वालों को चिन्तित कर दिया है। इस अत्यधिक संवेदनशील इलाके में हेलीपैड परियोजना के कारण होने वाले सम्भावित नुकसान ने कई प्रश्न खड़े कर दिए हैं। 13,650 फिट की […] Read more

क्या पर्यटन पर नये सिरे से सोचना होगा?

क्या पर्यटन पर नये सिरे से सोचना होगा?

विनोद पांडे पर्यटन का नाम सुनते ही मन में सुंदर, साफ-सुथरी जगहें, जिनमें शिष्ट किस्म के लोग घूमते हों की कल्पना होने लगती है, लेकिन पहाड़ों में इस साल गर्मियों के सीजन में जैसी पर्यटकों की भीड़ दिखी वह इसके ठीक विपरीत थी। इसका एक उदाहरण केदारनाथ यात्रा के दौरान समाचारों में सुर्खियों में रहा […] Read more

सम्पादकीय

उदारीकरण की दौड़ तेज हुई है

उदारीकरण की दौड़ तेज हुई है

राजीव लोचन साह वर्ष 1991 में कांग्रेस की तत्कालीन नरसिंहाराव सरकार ने निजीकरण और आर्थिक उदारीकरण का जो चक्र शुरू किया था, उसने इधर 360 डिग्री की यात्रा पूरी कर ली है। उससे पहले जीवन बड़ा सरल था। पीने का पानी जल सप्लाई की टोंटियों से मिल जाया करता था। सरकारी नौकरियों में पेंशन होती […] Read more

परम्पराओं को भी नष्ट करता है पर्यटन

परम्पराओं को भी नष्ट करता है पर्यटन

राजीव लोचन साह विकास अपने साथ विनाश अनिवार्य रूप से लाता ही है। इस विनाश की मात्रा कितनी हो, न्यूनतम या भीषण, यह विकास चाहने या करने वालों की सोच पर निर्भर है। विकास सिर्फ पर्यावरण को प्रदूषित और नष्ट नहीं करता, वह सांस्कृतिक और मानवीय मूल्यों को भी क्षति पहुँचाता है। पर्यटन इसका एक […] Read more

आशल कुशल

देश दुनिया

क्या पर्यटन पर नये सिरे से सोचना होगा?

क्या पर्यटन पर नये सिरे से सोचना होगा?

विनोद पांडे पर्यटन का नाम सुनते ही मन में सुंदर, साफ-सुथरी जगहें, जिनमें शिष्ट किस्म के लोग घूमते हों की कल्पना होने लगती है, लेकिन पहाड़ों में इस साल... Read more

राष्ट्रीय सद्भावना यात्रा: सही वक्त पर एक कारगर पहल

राष्ट्रीय सद्भावना यात्रा: सही वक्त पर एक कारगर पहल

इस्लाम हुसैन मीडिया में फ्रिंज एलीमेंट्स ने जिस तरह का सामाजिक विभेद का माहौल बनाया हुआ है वैसा माहौल उत्तराखंड में चली 40 दिन की राष्ट्रीय सद्भावना य... Read more

किताबें

व्यंग्य संग्रह ‘‘मार्निंग वाक पर कुत्ते’’ का विमोचन

व्यंग्य संग्रह ‘‘मार्निंग वाक पर कुत्ते’’ का विमोचन

शैक्षिक दखल की ओर से पिथौरागढ़ शहर के अजीम प्रेमजी फाउन्डेशन के सभागार में युवा साहित्यकार श्री रमेश चन्द्र जोशी के व्यंग्य संग्रह ‘‘मार्निंग वाक पर कु... Read more

पुस्तक समीक्षा : जिन्दगी एक सफ़रनामा है

पुस्तक समीक्षा : जिन्दगी एक सफ़रनामा है

रामकिशोर मेहता           मेरी अपनी समझ तो यह कि जिन्दगी एक यात्रा ही है और हम यात्री, यात्रा वृत्तांत उसका आँखों देखा हाल । कबीर याद आते हैं ‘तू कहता... Read more

साहित्य और संस्कृति

पुण्यतिथि (20 मई, 2012) पर विशेष : पहाड़ की संवेदनाओं के कवि थे शेरदा 'अनपढ़'

पुण्यतिथि (20 मई, 2012) पर विशेष : पहाड़ की संवेदनाओं के कवि थे शेरदा ‘अनपढ़’

चारू तिवारी मेरी ईजा बग्वालीपोखर इंटर कालेज के दो मंजिले की बड़ी सी खिड़की में बैठकर रेडियो सुनती हुई हम पर नजर रखती थी। हम अपने स्कूल के बड़े से मैदा... Read more

ख़ार ओ खस तो उठे, रास्ता तो चले । मैं अगर थक गया , रास्ता तो चले ॥

ख़ार ओ खस तो उठे, रास्ता तो चले । मैं अगर थक गया , रास्ता तो चले ॥

समाचार डैस्क हम अपने पाठकों को बताना चाह रहे हैं कि आज 10 मई 2022 को सायं 5 बजे कई संगठनों द्वारा आयोजित 40 दिवसीय सद्भावना यात्रा, नैनीताल पहुंच रही... Read more

पर्यावरण

हेमकुण्ड साहिब के पास नया हेलीपैड बनने से पर्यावरणविद् चिन्तित

हेमकुण्ड साहिब के पास नया हेलीपैड बनने से पर्यावरणविद् चिन्तित

सीमा शर्मा उत्तराखंड राज्य के चमोली जिले के जोशीमठ तहसील में स्थित श्री हेमकुंड साहिब में बनने जा रहे हैलीपैड ने बेहतर पर्यावरण की वकालत करने वालों को... Read more

महेन्द्र सिंह मिराल से बातचीत :  कब तक जिन्दा रहेंगे हमारे ग्लेशियर ?

महेन्द्र सिंह मिराल से बातचीत : कब तक जिन्दा रहेंगे हमारे ग्लेशियर ?

विनीता यशस्वी प्रश्न : आपने यात्राओं की शुरूआत कैसे की ? उत्तर : मैं 1998 में पिण्डारी गया बतौर एन.सी.सी. कैडेट। वो मेरी पहली यात्रा थी और बहुत विचित्... Read more

All rights reserved www.nainitalsamachar.org